Category: article

दिल्ली : मछली के गॉल ब्लैडर को खाने से किडनी हुई प्रभावित, सर गंगा राम अस्पताल में हुआ सफल इलाज

मछली के पित्ताशय का कच्चा सेवन भारत सहित एशिया के कुछ क्षेत्रों विशेष रूप से पूर्वी और दक्षिणी भारत में एक आम बात है। इससे कई तरह की गंभीर बीमारियां हो सकती हैं और किडनी प्रभावित हो सकती है। Read More
Read More

शुगर ठीक करने के लिए 3 दिन तक खाती रही मछली का कच्चा गॉल ब्लैडर, किडनी हो गई फेल

पित्त में साइप्रिनॉल नामक विष होता है, जो मनुष्यों में गुर्दे की क्षति का कारण बनता है. मछली के पित्त से जुड़े गुर्दे की चोट के लक्षणों में पेट में दर्द, उल्टी और मूत्र उत्पादन में कमी शामिल हो सकती है. गंभीर मामलों में, स्थिति गुर्दे की विफलता और यहां तक कि मौत का कारण बन सकती […]
Read More

    Book An Appointment

    Contact with Dr Vaibhav Tiwari​

    Book Appointment